जोरों-शोरों से हो रहा है राम मंदिर का निर्माण, गुलाबी पत्थरों पर दिखी बारीक नक्काशी और कलाकृतियां।

0 20

Ram Mandir: अयोध्या में बन रहे राम मंदिर को देखने के लिए लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। लंबे समय से चल रहे विवाद के खत्म को जाने के बाद श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट इस मंदिर को बना रहा है।

आपको बता दें कि मंदिर का काम जोरों-शोरों से चल रहा है। हाल ही में कुछ फोटोज भी सामने आई हैं जिसे देख लोग काफी उत्सुक हो रहे हैं।

राममंदिर के स्तंभों को जोड़ने का काम शुरू

गर्भगृह के स्तंभों को जोड़ने का भी काम प्रारंभ कर दिया गया है। पहला स्तंभ जोड़ा जा रहा है। एक स्तंभ में सात पत्थरों को एक के ऊपर एक जोड़ा जाएगा। हर स्तंभ में देवी-देवताओं की 16 मूर्तियां भी उकेरी जाएंगी।

जब गर्भगृह तैयार हो जाएगा, सभी स्तंभ लग जाएंगे तब स्तंभों में मूर्तियों को उकेरने का काम किया जाएगा। उन्होंने बताया कि खंभों के ऊपर बीम, बीम के ऊपर गर्भगृह की छत ढाली जाएगी। तीन मंजिला मंदिर की कुल ऊंचाई 161 फीट होगी।हर मंजिल 20 फीट ऊंची होगी। भूतल में जहां 160 स्तंभ वहीं प्रथम तल में 132 स्तंभ होंगे। तीसरे तल में कुल 74 स्तंभ होंगे। चंपत राय ने बताया कि जमीन से 16.5 फीट ऊंचाई पर गर्भगृह होगा। मंदिर में एक शिखर व पांच उपशिखर होंगे।

40 प्रतिशत बन चुका है मंदिर

राम मंदिर से जुड़े अपडेट समय-समय पर सामने आते हैं। हाल ही में ट्रस्ट की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक राम मंदिर का 40 प्रतिशत निर्माण कार्यपूरा हो चुका है। निर्माण पूरा होने के बाद भारत में बने तमाम खूबसूरत मंदिरों की सूची में राम मंदिर का नाम शामिल हो जाएगा। मौजूदा समय में मंदिर के भूतल पर नक्काशीदार पत्थर लगाने की काम किया जा रहा है। फिलहाल मंदिर को देखने के लिए लोगों को थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। ट्रस्ट के मुताबिक मंदिर के गर्भगृह का काम दिसंबर 2023 से जनवरी 2024 के बीच पूराहो जाएगा। गर्भगृह के बनने के बाद ही मंदिर में रामलला को विराजित किया जाएगा। इसके साथ ही श्रद्धालु रामलला का दर्शन उनके भव्य और दिव्य मंदिर में कर सकेंगे जबकि संपूर्ण मंदिर 2025 तक बनकर तैयार हो जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.