इंडो-नेपाल बॉर्डर पर सशस्त्र सीमा बल की बड़ी कार्रवाई, भारी मात्रा खाद को किया ज़ब्त

0
1660

रक्सौल:- पूरे बिहार में लॉकडाउन है लेकिन इंडो-नेपाल बॉर्डर पर तस्करों की तस्करी रुकने का नाम नहीं ले रही है। ताज़ा मामला रक्सौल प्रखड के कुकुहिया गाँव का है, ये गाँव भारत-नेपाल सीमा पर स्थित है, यहाँ एसएसबी 47वीं बटालियन के जवानों ने बुधवार की देर रात कार्रवाई करते हुए खाद से भरे हुए एक पिकअप को पकड़ा है। इस्पेक्टर रमेश यादव और अरविंद कुमार के साथ अन्य जवानों ने कार्रवाई करते हुए खाद सहित पिकअप को तो पकड़ लिया लेकिन गाड़ी का ड्राइवर और तस्कर मौके से फरार हो गए।

ज़ब्त गाड़ी और खाद के साथ एसएसबी के जवान

स्थानीय किसान को बिना आधार कार्ड खाद नहीं नहीं दे रहे है दुकानदार, लेकिन तस्करी के लिए कहाँ से आ रहा है सैकड़ों बोरा खाद?

आपको बता दे कि गाँवों के स्थानीय किसान खाद नहीं मिलने से परेशान है। लेकिन इंडो-नेपाल बॉर्डर पर भारी मात्रा में खादों की तस्करी हो रही है। अगर यहाँ किसी खाद दुकान से किसान को एक बोरा खाद लेना है तो अपना आधार कार्ड देना पड़ रहा है लेकिन खाद के सैकड़ों बोरे की तस्करी हो रही है लेकिन कोई पुछने वाला नहीं है। कुछ पैसा ज्यादा लेकर खादों की काला बाजारी हो रही है और स्थानीय किसान से आधार कार्ड मांग कर परेशान किया जा रहा है। लेकिन सवाल ये है कि अगर आधार कार्ड पर ही खाद देना है तो इतने सारे खाद किसके आधार कार्ड पर मिले?

खाद के बोरी से भरा पिकअप

गौरतलब है कि लॉकडाउन में इतनी भारी मात्रा में खाद की इस खेप को नेपाल ले जाने की कोशिश की जा रही थी लेकिन स्थानीय पुलिस प्रशासन की इसकी ख़बर तक नहीं थी। लेकिन एसएसबी के जवानों ने इसे पकड़ लिया।रक्सौल प्रखड के पूरे सीमावर्ती इलाकों में लगातार तस्करी हो रही है, तस्कर साईकल और मोटरसाइकिल के सहारे लगातार खादों तस्करी कर रहे है। क्योंकि नेपाल में खाद की किल्लत है, जिसकी वजह से भारत-नेपाल की सीमावर्ती इलाको में लगातार तस्करी हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here