माँ काली को सिगरेट पीते दिखाया, हाथ में LGBTQ का झंडा: जुबैर समर्थक लीना बना रही फिल्म, लोग बोले – दूसरा मजहब होता तो सिर कलम हो जाता

0 47

भारतीय फिल्म निर्मात्री लीना मणिमेकलई की डॉक्यूमेंट्री ‘काली’ के जारी पोस्टर को हिन्दू धर्म पर आघात बता कर सोशल मीडिया में विवाद खड़ा हो गया है। आरोप है कि पोस्टर को जारी कर के माँ काली का अपमान किया गया है। कई नेटीजेंस ने तो पुलिस और केंद्रीय गृह मंत्रालय को टैग करते हुए इसे बनाने वालों पर कार्रवाई की माँग की है। विवादित पोस्टर 2 जुलाई 2022 (शनिवार) को रिलीज हुआ है।

इसका पोस्टर खुद लीना ने शेयर किया है। इस विवादित पोस्टर में माँ काली के चार भुजाओं के प्रतिरूप में एक महिला को दिखाया गया है। माथे पर तिलक लगा हुआ है और हाथों में त्रिशूल व अन्य अस्त्र हैं। वहीं एक हाथ में सिगरेट है जो मुँह से लगी हुई है। वहीं दूसरे हाथ में LGBTQ का झंडा है। इस डॉक्यूमटरी में एसोसिएट प्रोडूसर और मेकअप आशा पोन्नाचन द्वारा, एडिटिंग श्रवण द्वारा, कैमरा फ़ातिन चौधरी व ऋषभ कालरा द्वारा, ऑडियोग्राफ़ी तपस नायक द्वारा, इमेज ग्रेडिंग राजा रंजन द्वारा किया गया है। विवादित डाक्यूमेंट्री बनाने में में तमिल आर्ट कलेक्टिव और क्वीन समर इंस्टिट्यूट द्वारा भी सहयोग किया गया है

हालाँकि इसे शेयर करते हुए लीना ने इसके लिए खुद को बेहद उत्साहित बताया लेकिन डाक्यूमेंट्री का पोस्टर जारी होते ही यह विवादों में आ गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.