अब गोवा क्यों जाना, जब वाटर एडवेंचर स्पोर्ट्स का मज़ा ले सकेंगे बिहार में

0 35

पश्चिम चंपारण: वाटर एडवेंचर के लिए भारत में गोवा को बेहतर माना जाता है जहाँ लोग छुट्टियां मनाने के लिए जाते हैं। लेकिन गोवा जाना सबके लिए संभव नहीं है खास कर हमारे बिहारवासियों के लिए, क्योंकि गोवा बहुत दूर भी और महंगा भी। तो एक माध्यम वर्ग परिवार के लिए गोवा में पिकनिक मनाने लिए जाना संभव नहीं है। लेकिन अब पूरे बिहारवासियों के लिए बड़ी खुशखबरी है कि अब वाटर एडवेंचर के लिए गोवा जाने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि पश्चिमी चम्पारण के अमवा मन(पानी से भरा हुआ सरोवर तो प्राकृतिक रूप से यहाँ स्थित है) में वाटर एडवेंचर स्पोर्ट्स पैरासेलिंग (parasailing) का सफल ट्रायल हुआ है। इसके बाद बिहार के पर्यटन क्षेत्र में एक और आयाम जुड़ गया. यह बिहार का पहला वाटर स्पोर्ट्स बन गया जहां पर्यटक पैरासेलिंग का लुत्फ उठा सकेंगे.

वाटर एडवेंचर स्पोर्ट्स स्थल जिले के मझौलिया प्रखंड क्षेत्र और एनएच 727 पर स्थित है. जो पश्चिमी चंपारण की सीमा पर है और इसे अब पश्चिमी चंपारण का प्रवेश द्वार भी कहा जाने लगा है. दरअसल जैसे ही लोग जिले की सीमा में प्रवेश करेंगे वैसे ही अमवा मन पर्यटकों का स्वागत करेगा. अमवा मन में एक झील भी है और यह झील पहले सिर्फ ग्रामीण क्षेत्र के लोग मछली मारने का काम करते थे, लेकिन अब बिहार के पश्चिम चंपारण में भी गोवा जैसे आनंद के लिए देश-विदेश से पर्यटक पहुंचेंगे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.