इतिहास में पहली बार ऐसा घोषणा पत्र, ₹100 के स्टांप पेपर करोड़ों की योजनाओं वाला शपत पत्र

0
2961

पश्चिमी चम्पारण(चनपटिया):-बिहार विधानसभा का चुनाव अपने अंतिम पड़ाव पर है क्योंकि पहले चरण का मतदान हो चुका है और दूसरे चरण का मतदान 3 नवंबर और तीसरे चरण का मतदान 7 नवंबर को होना है। ऐसे में सारी राजनीतिक पार्टियां धुआंधार रैलियां कर रही हैं और अपने-अपने तरीके से लोगों को रिझाने की कोशिश भी कर रही हैं। कोई दस लाख रोजगार देने का वादा कर रहा है तो कोई बिहार से बेरोजगारी को पूरी तरह से खत्म करने की बात कर रहा है तो कोई बिहार से पलायन को रोकने की बात कर रहा है।

ऐसे में हम बात चंपारण की करते हैं, जहाँ पश्चिमी चंपारण के चनपटिया विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी मनीष कश्यप ने एक अनोखा घोषणा पत्र जारी किया है जिसमें उन्होंने ₹100 के स्टांप पर शपथ पत्र के साथ अपने घोषणा पत्र को जारी किया है। इसका मतलब ये है कि ब्लॉक में बैठने वाले रजिस्टर वकली के माध्यम से इस शपथ पत्र को बनाया गया है। जिस पेपर पर उस वकील का सिग्नेचर और मोहर भी लगा है। लेकिन ये बड़ी-बड़ी पार्टियों के बड़े बड़े मैनिफेस्टो के मुँह पर तमंचा है जो कभी पूरा नहीं कर पाते है। और शायद ये पहली बार हो रहा है कि कोई निर्दलीय प्रत्याशी इस प्रकार अपने चुनावी घोषणा पत्र को जनता के सामने पेश कर रहा है। अब ये कितना कारगर साबित होता है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

लेकिन हम आपको बता दे कि एनडीए की ओर से प्रत्याशी और भाजपा नेता को जिताने के लिए पूरा कुनबा जुड़ चुका है क्योंकि यहां उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदिनाथ और मनोज तिवारी भी रैली कर चुके हैं। ऐसे में एनडीए की चिंता साफ जाहिर हो रही है और इस बार नीतीश कुमार की रैलियों में भी मुर्दाबाद के नारे लगातार लग रहे हैं और इस पर एक नीतीश कुमार का वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वह लोगों को नसीहत देते हुए दिखाई दे रहे हैं ऐसे में कहना मुश्किल है कि इस बार फिर से एनडीए की सरकार बनेगी या मनीष कश्यप जैसे निर्दलीय प्रत्याशी बाजी मरेंगे या विपक्ष का पलड़ा भारी होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here