क्या करोड़ों में डील हुई रक्सौल विधानसभा सीट? और बीजेपी ने जारी की अपने उम्मीदवारों की लीस्ट

0
1811

पूर्वी चंपारण-बिहार विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर सरगर्मी इतनी तेज है कि टिकट के दावेदार नेता अपनी पार्टी से ही बगावत करने को तैयार है। इस बार पूरे बिहार में पूर्वी चम्पारण की कुछ विधानसभा सीटे सबसे ज्यादा चर्चित हो गई है।
सबसे पहला है रक्सौल विधानसभा का सीट जहाँ से मौजूदा बीजेपी विधयाक डॉ. अजय सिंह का टिकट कटने की ख़बर से खलबली मच गई है। अजय सिंह बीजेपी के ही टिकट पर पिछले चार बार से जीतते आये है लेकिन इस बार उनका टिकट कटने की खबर से वे पार्टी से नाराज है और निर्दलीय चुनाव लड़ने की बात सामने आ रही है।

गौरतलब है कि जेडीयू से बीजेपी से शामिल हुए प्रमोद सिन्हा रक्सौल विधानसभा से टिकट की दौड़ में सबसे आगे नज़र आ रहे है। लेकिन कुछ लोगो का आरोप है कि रक्सौल विधानसभा सीट की डील करोड़ो में हुई है। शहर और गांव के चौक चौराहें और हर नुक्कड़ पर लोग इस बात की चर्चा कर रहे है। लोग इसके पीछे सीधा आरोप बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल पर लगा रहे है। इसी कारण रक्सौल से मौजूदा विधायक निर्दलीय चुनाव लड़ने की बात कर रहे है। रक्सौल विधानसभा सीट बीजेपी के खाते में गया है लेकिन बीजेपी के द्वारा जारी सूची में रक्सौल विधानसभा का जिक्र नहीं है यानी असमंजस की स्थिति अभी भी बनी हुई है।

पूर्वी चम्पारण जदयू जिला अध्यक्ष भुवन पटेल भी रक्सौल विधानसभा पर अपनी दावेदारी पेश कर चुके थे लेकिन जदयू से बीजेपी में शामिल हुए प्रमोद सिन्हा को टिकट मिलने की ख़बर से पार्टी से नाराज दिख रहे है और भुवन पटेल ने भी निर्दलीय चुनाव लड़ने की बात कही है।

अब रक्सौल विधानसभा से महागठबंधन का गणित भी समझ लीजिए कुछ दिन पहले तक ख़बर थी कि महागठबंधन की ओर से आरजेडी नेता सुरेश यादव को टिकट मिलेगा लेकिन अब खबर है कि ये कांग्रेस से रामबाबू यादव को टिकट मिल सकता है। ऐसे में सुरेश यादव भी निर्दलीय चुनाव लड़ सकते है। अगर ये सभी राजनीतिक समीकरण सही साबित होते है तो रक्सौल विधानसभा पूरे बिहार में सबसे ज्यादा चर्चा का विषय होगा।

इसके बाद सुगौली विधानसभा वीआईपी के खाते में जाने से भी भाजपा के कार्यकर्ता नाराज़ दिख रहे है। सबसे ज्यादा बवाल केसरिया सीट पर है। यहां से जदयू के महेश्वर सिंह सबसे मजबूत दावेदार माने जा रहे थे लेकिन शालिनी मिश्रा को टिकट मिलने के बाद माहेश्वर सिंह ने उपेंद्र कुशवाहा के गठबंधन (रालोसपा-बसपा) का दामन थाम लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here