राष्ट्रीय अधिवेशन में उठी पत्रकार सुरक्षा की मांग, देश में 200 शहरों से हजारों पत्रकारों ने लिया हिस्सा

0
317

मोतिहारी, पूर्वी चंपारण : स्थानीय उर्दू लाइब्रेरी में नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (आई), बिहार के पूर्वी चंपारण इकाई द्वारा संगठन का 20 वां राष्ट्रीय अधिवेशन मनाया गया। इस दौरान संगठन के सदस्यों ने वर्चुअल माध्यम से राष्ट्रीय कमेटी से जुड़ कर पत्रकार एवं पत्रकारिता के हालात पर चर्चा की गई। संगठन के प्रदेश संयोजक रंजीत तिवारी ने कहा कि सरकार लगातार पत्रकारों की सुरक्षा सम्बंधित मांग को ठुकरा रही है। जो लोकतंत्र के प्रहरियों के साथ अनुचित है। जिला संयोजक इंतेजरुल हक और सह संयोजक मृत्युंजय पांडेय ने पत्रकारों के एकता पर बल देते हुए संगठन को मजबूत करने की बात कही।

राष्ट्रीय राष्ट्रव्यापी अधिवेशन में पूरे देश में कोरोना काल मे पत्रकारो की आर्थिक तंगी को ले कर केंद्र और राज्य सरकारों से विशेष आर्थिक पैकेज देने और पत्रकारो को मीडिया योद्धा घोषित करने का प्रस्ताव भी सबकी सहमति से पारित हुआ है। पत्रकार सुरक्षा कानून के प्रभावी निर्माण, मीडिया कॉउन्सिल, मीडिया आयोग, राष्ट्रीय पत्रकार रजिस्टर बनाने के महत्वपूर्ण प्रस्ताव भी पारित हुए। राज्य संयोजक रंजीत तिवारी ने बताया कि कोरना काल की विपरीत परिस्थितियों मे यह एक सार्थक आयोजन रहा। आयोजन की सफलता ने तय कर दिया कि एनयूजेआई ही पत्रकारों के लिए देश का एकमात्र पत्रकार राष्ट्रीय संगठन है जो कठिन से कठिन दौर मे भी पत्रकार हितों के प्रति सदैव मुखर रूप से सजग, जागरूक और समर्पित अपने कुशल राष्ट्रीय नेतृत्व और पूरे देश मे सक्रिय राज्य इकाइयों के संबल से गतिमान रहता है। तथा पत्रकार हितों की रक्षा के लिए सदैव तत्पर है। वक्ताओं में सत्यप्रकाश मनोरंजन, दीपक अग्निर्थ, जयप्रकाश तिवारी, नीरज कुमार, बिपीन कुशवाहा, अश्विनी झा, सुजीत कुमार मिश्रा, मनीष कुमार सिंह ने पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने के पक्ष में आवाज बुलंद किये।

कार्यक्रम समापन के बाद जिला कार्यकारणी कमेटी की गठन तथा अनुमंडल संयोजक का मनोनय किया गया। रक्सौल से बिपीन कुशवाहा, सिकरहना से सुजीत मिश्रा एवं मनीष कुमार सिंह तथा पकड़ीदयाल से नीरज कुमार को अनुमंडल संयोजक का पदभार सौंपा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here