बिहार के ऐतिहासिक पन्नों को पलटा जाए तो बिहार की ऐसी दुर्दशा की कल्पना किसी ने नहीं की थी….

0 29

पश्चिमी चम्पारण:-

शिक्षा से लेकर रोजगार तक और रोजगार से लेकर शराब बंदी तक बिहार सरकार की हर व्यवस्था ध्वस्त नजर आ रही है। आज बिहार में हर जगह आसानी से शराब उपलब्ध है और जाहिर सी बात है ये बिना प्रशासन के मिली भगत के सम्भव नहीं है। आए दिन प्रशासन शराब कारोबारियों और तस्करों को दबोचते रहता है और इसी क्रम में पूर्वी चम्पारण के शराब तस्कर को पश्चिम चम्पारण के नौतन थाना ने विदेशी शराब के साथ गिरफ्तार किया है और अब सवाल खड़ा होता है कि बिना शासन प्रशासन के मिली भगत के ये शराब एक जगह से दूसरी जगह कैसे चले जाते है।

एक और गौर करने वाली बात है कि कुछ दिन पहले बिहार सरकार ने ये फरमान जारी कर दिया है कि सरकारी विद्यालय के शिक्षक शराबियों का पता लगाएंगे। अब एक शिक्षक बच्चो को शिक्षा देगा कि या शराबियों का पता लगाएगा। अगर बिहार के ऐतिहासिक पन्नों को पलटा जाए तो बिहार की शिक्षा व्यवस्था की कल्पना किसी ने नहीं की थी और ना ही शराब बंदी के नाम पर सिर्फ दिखावटी कार्रवाई बिहार को खोखला कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.