बेतिया कोविड हॉस्पिटल की बदहाली को दिखाने वाले कोरोना पीड़ित शिक्षक की मौत

0
567

बेतिया:पूरे बिहार में कई अस्पतालों से अलग अलग वीडियो वायरल हो रहे है। अस्पताल की लापरवाही और ठीक से इलाज नहीं मिलने से कई लोगो की मौत हो गई। ऐसे दर्जनों वीडियो तमाम शोसल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहे है। ऐसे में सरकार के ऊपर भी कई गंभीर सवाल खड़े हो रहे है। केंद्रीय टीम की जांच में भी कई कमियां पाई गई है जिसे दुरुस्त करने की जरूरत है।

ताज़ा मामला पश्चिमी चंपारण के बेतिया जीएमसीएच अस्पताल का है जहाँ एक कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई। जिस मरीज की मौत हुई वो पेशे से एक प्राइवेट शिक्षक थे, उन्होंने वीडियो बना कर अस्पताल की दुर्दशा के बारे में बताया था। उन्होंने अपने वीडियो में कहा कि “कई बुलाने पर भी कोई देखने नहीं आता है। कोई इंजेक्शन लगाने के लिए भी नहीं आता, सरकार कहती है कि सब व्यवस्था है लेकिन यहाँ कोई व्यवस्था नहीं है। रात भर अस्पताल में कुत्ते घूमते रहते है। इस वीडियो को शेयर कर मेरी जान बचा लीजिये”

लोगों ने वीडियो तो खूब शेयर किया वीडियो वायरल भी हुआ लेकिन उनकी जान नहीं बच पाई। उन्होंने वीडियो में कहा था कि एक बार और लाइव आके कुत्तों को दिखा दूंगा की कैसे अस्पताल में कुत्ते घूमते रहते है। लेकिन दुबारा वीडियो बनाने के पहले ही उनकी मौत हो गई।

बेतिया मेडिकल कॉलेज की साफ सफाई की व्यवस्था भी चिंता जनक है इसको लेकर भी कई गंभीर सवाल खड़े हो रहे है। अस्पताल की ओर से वीडियो में लगाए गए आरोपों को गलत बताया जा रहा है लेकिन शिक्षक के परिजन अस्पताल पर लापरवाही के आरोप लगा रहे है कि ऑक्सीजन खत्म होने से उनकी मौत हो गई। अगर सही इलाज मिलता तो उनकी जान बच सकती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here