NCB का बड़ा दावा, रिया चक्रवर्ती ने कई बार खरीदा सुशांत सिंह राजपूत के लिए गांजा।

0 43


Sushant Singh Rajpoot Case:नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में बड़ा खुलासा किया है। जी हां, एनसीबी ने दावा किया है कि सुशांत सिंह राजपूत की कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने अपने भाई शोविक समेत अन्य आरोपियों से कई बार गांजा खरीदकर अभिनेता सुशांत सिंह को दिया था। बता दें कि एनसीबी ने हाल ही में एनडीपीएस कोर्ट में सुशांत मौत मामले में 35 आरोपियों के खिलाफ मसौदा आरोप दाखिल किया था, जिसकी सुनवाई मंगलवार को हुई।
रिया और भाई शोविक ने खरीदा था गांजा 
इस पूरी रिपोर्ट में यह दावा किया है कि रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) अपने भाई शोविक और उसके साथी आरोपियों से कई बार गांजा खरीद चुकी हैं, उन्होंने ने ही कई बार सुशांत सिंह राजपूत को ये नशीली चीजें दी थीं। रिपोर्ट में दर्ज आरोपों के अनुसार, सभी आरोपियों ने एक दूसरे के साथ मिलकर या समूह में मार्च 2020 और दिसंबर 2020 के बीच आपराधिक षड्यंत्र रचा, ताकि वे ‘हाई सोसाइटी और बॉलीवुड’ में नशीले पदार्थों को आराम से बांट सकें, बेच और खरीद भी सकें।
इस मामले में एनसीबी ने रिया और शोविक सहित कई आरोपियों पर चार्जेस लगाए हैं, ड्रग खरीदने और ड्रग पैडलर से संपर्क रखने के मामले में। जिसमें कहा गया है कि रिया ड्रग लेकर सुशांत को देती थीं।
पूजा सामग्री के नाम पर खरीदा ड्रग्स
इसके अलावा कोर्ट में ये एसीबी ने दावा किया है कि संदीप पीठानी ने पूजा सामग्री के नाम पर ड्रग खरीदा था। एनसीबी ने अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के खिलाफ कोर्ट में दर्ज अपने आरोपों में दावा किया है कि मार्च और दिसंबर 2020 के बीच, सुशांत सिंह राजपूत ड्रग मामले के सभी 35 आरोपियों ने नशीली दवाओं की खरीद, बिक्री और वितरण सहित मादक पदार्थों की तस्करी के लिए एक आपराधिक साजिश रची। बॉलीवुड में गांजा, चरस, एलएसडी, कोकीन और अन्य प्रतिबंधित दवाओं का व्यापार करते थे।
इन धाराओं के तहत दर्ज हुआ मामला

एनसीबी ने मंगलवार को दावा किया कि आरोपियों ने मुंबई के भीतर न केवल ड्रग्स की तस्करी की फंडिंग की बल्कि गांजा, चरस, कोकीन जैसे नशीले पदार्थों का इस्तेमाल भी किया था। अवैध तस्करी को वित्तपोषित करने और अपराधियों को शरण देने के लिए इन सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 27 और 27 ए लगाई गई है। इसके अलावा धारा 28 और धारा 29 के तहत मामला दर्ज किया गया है।
अब आगे क्या होगा?

आरोप तय करने से पहले अदालत सभी आरोपियों की दोषमुक्ति याचिका पर विचार करेगी। एनडीपीएस अधिनियम से संबंधित मामलों की सुनवाई करने वाले विशेष न्यायाधीश वी जी रघुवंशी ने मामले की सुनवाई के लिए 27 जुलाई की तारीख तय की है। यानी अब अगली सुनवाई 15 दिन बाद होगी।
Leave A Reply

Your email address will not be published.